Sunday, 3 July 2011

कविता

                           जिंदगी में हैं अनेक रंग
                         जी लो इसे हर किसी के संग
                          पर खुशियां हैं मुझसे रुठी
                           हंसती हूं मैं, पर झूठी-मूठी
                      जाने किसकी लगी है मुझे नजर
                          सभी तो हैं इससे बेखबर
                         हर वक्त रहती हूं मैं बेचैन
                       एक पल न आए मुझको चैन
                           जल्दी से कट जाए
                           जिंदगी का ये सफर
                          अब नहीं होता मुझसे
                            यह कठिन सफर
                         लगती है यह दुनिया एक
                               भ्रमर जाल
                       हर दिन चलता है कोई नई
                                     चाल
                         मैं भी फंस गई भंवर में
                        कुछ न आए समझ में
                     कहां गए वो जिंदगी के रंग...।
                             जिंदगी के रंग
------------------------------------------------------------------------------------------
                  लेखक ------ शालिनी यादव
------------------------------------------------------------------------------------------
            अगर आपको यह ब्लॉग पसंद आ रहा हो तो समर्थक बने  
------------------------------------------------------------------------------------------ 
              हमारी गलतियो से हमें अवगत कराये  
------------------------------------------------------------------------------------------ 

5 comments:

  1. sabhi rachnayein bahut hi sunder

    ReplyDelete
  2. Shalini ji ki kavita bahut achchhi lagi .prastut karne ke liye aapka aabhar .

    ReplyDelete
  3. एक पल न आए मुझको चैन
    जल्दी से कट जाए
    जिंदगी का ये सफर
    अब नहीं होता मुझसे
    यह कठिन सफर
    लगती है यह दुनिया एक
    भ्रमर जाल
    bahut sundar bhavabhivyakti.zindgi aisee hi hai.

    ReplyDelete
  4. जल्दी से कट जाए
    जिंदगी का ये सफर
    अब नहीं होता मुझसे
    यह कठिन सफर

    शालिनी जी! ऐसी ऊबन और निराशा नहीं होनी चाहिए ज़िन्दगी से...बाकी बहुत सुन्दर रचना

    ReplyDelete
  5. एक पल न आए मुझको चैन
    जल्दी से कट जाए
    जिंदगी का ये सफर
    अब नहीं होता मुझसे
    ....बहुत सुन्दर :)

    ReplyDelete